काली पैंटी और ब्रा में चुदाई भाग-1

Antarvasna, hindi sex story: अमित चलो ना बहुत दिन हो गए कहीं साथ में घूमने के लिए भी नहीं गए हैं? सविता मे बहुत थक चुका हूं मैं तुम्हारे साथ नहीं आ सकता सविता तुम ही अकेले चली जाओ। अमिता तुम तो कभी भी मेरा ध्यान नहीं रखते हो और मुझे ही हमेशा अकेले जाने के लिए कह देते हो ठीक है मैं अकेली ही चली जाऊंगी। मैं जब अकेली अपने घर से छाता लेते हुए बाहर निकली ही थी कि पड़ोस में रहने वाले गौतम ने मुझसे कहा सविता भाभी जी आप पैदल ही जा रही हैं। मैंने गौतम से कहा हां मैं अपने लिए कुछ सामान खरीदने के लिए जा रही हूं। गौतम मेरी तरफ देखते हुए कहने लगा भाभी आप अकेले ही जा रही हैं मैंने गौतम को कहा अमित तो बहुत बोरिंग है वह मेरे साथ कही आते ही नहीं हैं।

भाभी आप कैसी बात कर रही हैं मै आपके साथ चलता हूं गौतम को बस इतने ही कहने की देर थी कि गौतम मेरे साथ आने के लिए तैयार हो गया। जब वह मेरे साथ आने के लिए तैयार हो गया तो मैने गौतम को कहा गौतम तुम्हारी स्पोर्ट्स बाइक में ही चलेंगे। गौतम कहने लगा लेकिन क्या आपको मेरी स्पोर्ट बाइक में बैठने में अच्छा लगेगा? मैंने गौतम को कहा क्यों नहीं तुम अपनी स्पोर्ट्स बाइक निकालो तो सही गौतम ने अपनी स्पोर्ट बाइक निकाली और गौतम ने अपने काले गॉगल्स अपनी आंखों पर चढ़ा लिए गौतम मुझे कहने लगा सविता भाभी आओ बैठो। मैं भी गौतम के पीछे अपनी चूतडो को सटाकर बैठ गई, मेरे सुडौल स्तन गौतम की कमर से रगड़ खा रहे थे गौतम भी कहां पीछे रहने वाला था। गौतम ने बडा जोरदार ब्रेक लगाया जिससे कि मैं गौतम से लिपट गई मेरे स्तन गौतम की कमर से बड़ी जोर से टकराया, गौतम बार-बार ब्रेक मार रहा था। गौतम की नजर ना जाने मुझ पर कब से थी लेकिन मैंने भी सोच लिया था कि आज गौतम से ही अपनी सारी शॉपिंग का खर्चा उठवाऊंगी। गौतम भी मेरे लिए पागल था वह मॉल की पार्किंग में गया तो मैंने भी अपनी आंखों पर अपने बड़े चश्मो को चढ़ा लिया था अब मैं गौतम का हाथ पकड़े हुए मॉल के अंदर गई।

जब मैं मॉल के अंदर गौतम का हाथ पकड़ते हुए गई तो वहां खड़े सिक्योरिटी गार्ड ने मुझे रोक लिया और मुझे कहने लगा मैडम आप चेकिंग करवा लीजिए? मैंने उससे कहा तुम ही चेक कर लो। वह कहने लगा मैडम यहां पर अभी तो लेडीस गार्ड नहीं है, मैंने उससे कहा कोई बात नहीं तुम ही चेक कर लो अब वह मेरे बैग को चेक करने लगा वह मुझे एक कोने में ले गया वहां पर उसने मेरे बदन को दबाना शुरू किया और मेरे स्तनों को जब वह दबाता तो मेरी चूत से पानी निकालता। मैंने गार्ड को भी एक पप्पी दे कर कहा बस इतना ही करो अब क्या फ्री में तुम पूरे मजे लोगे। वह मुझे कहने लगा मैडम आप तो बड़ी ही गजब की माल है। मैंने उसे कहा मेरा नाम सविता है। मैंने भी पूरी तरीके से मन बना लिया था कि गौतम का आज मे अच्छा खासा खर्चा करवाऊंगी। गौतम मुझे कहने लगा भाभी जी चलिए हम लोग शॉपिंग करते हैं मैंने गौतम से कहा ठीक है गौतम, हम लोग जैसे ही मॉल के एक प्रतिष्ठित आउटलेट में गए तो मैंने गौतम को कहा गौतम क्या तुम्हें भी कुछ लेना है? वह मुझे कहने लगा नहीं भाभी मुझे तो कुछ नहीं लेना है मैंने गौतम को कहा तुम भी देख लो यदि तुम्हें कुछ खरीदना हो। गौतम कहने लगा नहीं भाभी मैं तो आपके साथ ही आया हूं आप बताइए आपको क्या लेना है? मैंने गौतम को कहा मुझे जो लेना है वह मैं तुम्हें नहीं बता सकती गौतम भी इस बात पर मुस्कुराने लगा मैंने भी गौतम की तरफ बड़ी ही प्यासी नजरों से देखा तो गौतम मुझे कहने लगा भाभी जी आप भी कैसी बात करती हैं। मैं अब लेडीस सेक्शन में चली गई वहां पर गौतम भी मेरे साथ था मैं अपने अंडर गारमेंट देखने लगी तो गौतम ने मेरा हाथ पकड़ते हुए कहा भाभी जी आप काले कलर के अंडर गारमेंट लिजिए आप पर बहुत अच्छी लगेगी यह कहते ही गौतम मुस्कुराने लगा। मैंने गौतम के हाथ को पकड़ते हुए कहा तुम बड़े ही मजाकिया किस्म के हो, गौतम कहने लगा भाभी आपने मुझे देखा ही कहां है कभी आप मुझे अकेले में मिलिए तो मै आपको बताऊंगा मैं कैसा हूं।

मैंने गौतम को कहा ठीक है तुम्हें मैं अकेले में जरूर मिलूंगी मैंने गौतम से कहा चलो तुम्हारे कहने पर मैं यह काले रंग की अंडर गारमेंट्स ले रही हूं और उसके बाद मैंने अपने लिए नाइटी भी ली गौतम मेरे साथ ही था। गौतम मुझे कहने लगा मुझे तो आज आपके साथ शॉपिंग पर आने में बहुत अच्छा लगा गौतम और मै शॉपिंग से जब घर लौटे तो रास्ते में मैंने गौतम के लंड को भी अपने हाथों से दबा दिया था। गौतम मुझसे कहने लगा भाभी जी आज घर पर कोई नहीं है आप मेरे साथ चलिए। मैंने गौतम को कहा गौतम मै भला तुम्हारे घर आ कर क्या करूंगी लेकिन वह तो मुझे चोदने का पूरा मन बना चुका था इसलिए मैं गौतम के साथ जब गई। गौतम कहने लगा भाभी मैं कपड़े बदल लेता हूं गौतम ने अपने कमरे के दरवाजे के पीछे जाकर मुठ मारना शुरू कर दिया मैं बाहर हॉल में ही खड़ी थी लेकिन गौतम ने दरवाजे को बंद नहीं किया था। जैसे ही मैं अंदर गई गौतम मुझे कहने लगा भाभी क्या आपने सब कुछ देख लिया मैने गौतम को कहा तुम अपने लंड को हिला रहे थे मैंने गौतम से कहा अच्छा तो तुम यह सब कर रहे थे। मैंने गौतम से कहा लाओ मैं तुम्हारी मदद कर देती हूं जब मैंने गौतम से कहा तो गौतम के लंड को मैंने अपने हाथ में पकड़ा और उसे हिलाना शुरू किया तो मुझे भी अच्छा लग रहा था।

वह मुझे कहने लगा सविता भाभी आपके पीछे तो यहां पर सारे बुड्ढे पागल हैं और आपकी चूतड़ों को देखकर तो मुझे ऐसा लगता है जैसे मैं आपकी चूतडो को अपना बना लू मैंने गौतम के लंड को अपने मुंह में लिया और उसे चूसना शुरू किया। गौतम मुझे कहने लगा भाभी जी थोड़ा और अंदर लो मैंने भी उसके लंड को अपने गले के अंदर तक उतार लिया था गौतम मुझे कहने लगा भाभी आप मुझे काली पैंटी और ब्रा पहनकर दिखाइए मैं भी तो देखना चाहता हूं आप उसमे कैसी लगती हैं। मैंने गौतम से कहा मैं तुम्हारी इच्छा को आज पूरी कर देती हू लेकिन तुम्हें मेरी ब्रा और पैंटी को उतारना पड़ेगा।

गौतम ने मेरे कपड़े उतारने मे मेरी मदद की मैंने जब अपनी साड़ी को उतारा गौतम मेरी चूत की तरफ देखने लगा उसने मेरी चूत के अंदर अपनी उंगली को घुसा दिया। मैंने गौतम से कहा मुझे तुम काली पैंटी और ब्रा तो पहनने दो मैंने जब वह काली पैंटी और ब्रा पहनी तो गौतम ने उसे फाड़कर फेंक दिया। अब वह मेरी चूत की तरफ देखने लगा उसने मेरी चूत के अंदर उंगली को डाला और उसने मेरे स्तनों पर अपने लंड को लगाकर रगड़ना शुरू किया गौतम के वीर्य की पिचकारी मेरे मुंह के अंदर गिर चुकी थी गौतम कहने लगा भाभी आप बड़ी हॉट है। मैंने उसके लंड को अपनी चूत के अंदर उतरा तो गौतम खुश हो चुका था वह कहने लगा भाभी आप वाकई में बड़ी गजब की माल है मैंने गौतम को कहा थोड़ी और ताकत से मुझे चोदो। गौतम ने भी मेरे दोनों पैरों को पूरी तरीके से खोल लिया था और उसने अपने लंड को मेरी चूत के अंदर तक घुसाया मेरी चूत की दीवार पर जब गौतम के अंडकोष टकराते तो गौतम भी खुश हो जाता और मुझे कहता भाभी जी आपकी चूत बडी टाइट है मैंने गौतम को कहा मेरा नाम सविता है मैं जिसके साथ भी अपनी चूत मरवाती हूं उसे मैं अपना बना लेती हूं लेकिन आज तुमने मुझे अपने प्यार में पागल कर दिया मुझे बहुत अच्छा लगा जिस प्रकार से तुमने आज मेरी चूत को खोल कर रख दिया है। गौतम मेरे स्तनों को चूस रहा था वह मेरे साथ सेक्स का जमकर मजा ले रहा था तभी अचानक से दरवाजा कोई बड़ी तेजी से खटखटाने लगा। गौतम डर गया मैंने उसे कहा कोई बात नहीं तुम धक्के मारते रहो गौतम मुझे धक्के मारता रहा गौतम ने अपनी पिचकारी को मेरे मुंह के अंदर गिराया और मेरे मुंह को उसने अपने वीर्य से भर डाला। गौतम ने जल्दी से कपड़े पहन लिए और बाथरूम की तरफ भागा मैं कमरे मे ही नंगी लेटी हुई थी और कोई दरवाजा खटखटा रहा था।