मेरी चूत बरसों की प्यासी थी

Antarvasna, desi kahani: मेरे पति ने अपने दोस्त को घर पर डिनर के लिए इनवाइट किया। वह लोग डिनर के लिए आए। मैं रसोई में खाने बनाने की तैयारी कर रही थी एक घंटे बाद मैं खाना बना चुकी थी और उन लोगों के साथ कुछ देर तक बैठी। मुझे उनके दोस्त राहुल से मिलकर काफी अच्छा लगा। राहुल एक मल्टीनेशनल कंपनी में जॉब करते हैं और वह जिस कंपनी में जॉब करता है वहां पर मेरे भैया भी जॉब किया करते थे इसलिए वह मुझसे कुछ ज्यादा ही बातें कर रहे थे। राहुल के मन मे कुछ तो चल रहा था वह मुझे बताना नहीं चाहते थे। उस दिन डिनर करने के बाद राहुल और उनकी पत्नी घर चले गए। मुझे काफी दिनों बाद उन्होंने फोन किया जब राहुल का फोन मुझे आया तो मैंने उनसे बहुत देर तक बात की। वह मुझसे अश्लील बातें करने लगे थे मुझे बड़ा अच्छा लगता जब भी मैं उनसे बातें किया करती। हम दोनों की बातें अब फोन पर होने लगी थी। मै चाहती थी मै उनको घर पर बुलाकर अपने यौवन का प्याला पिला दू। वह भी घर पर आने के लिए तैयार हो चुके थे उस दिन मेरे पति अपने काम के सिलसिले में बाहर गए हुए थे और वह 2 दिनों बाद लौटने वाले थे।

मैंने दो दिनों के लिए राहुल को घर पर बुला लिया। राहुल जब घर पर आए तो मुझे वह कहने लगे सविता भाभी आपने मुझे आज घर पर बुलाकर मेरी इच्छा को पूरा कर दिया है मैं तो आपके लिए तड़प रहा था मै आपके लिए बहुत ही सपने देखा करता था। मैं भी अब राहुल को ज्यादा नहीं तड़पा रही थी। मैने राहुल के साथ सेक्स करने के बारे में सोचा। हम दोनों एक दूसरे के साथ सेक्स करने के लिए तैयार हो चुके। हम दोनों जब बेडरूम में गए तो वहां पर राहुल ने कहा भाभी आप नाइटी पहन लीजिए। मैंने अलमारी से अपनी गुलाबी नाइटी को निकाला और वह मैंने पहन ली। राहुल और मैं एक दूसरे के साथ बैठे हुए थे। राहुल मेरी जांघों को सहला रहे थे जब वह मेरी जांघो को सहला रहे थे तो मुझे बहुत ज्यादा अच्छा लग रहा था। मैंने राहुल को कहा मुझे बहुत अच्छा लग रहा है। राहुल ने मेरी गर्मी को बढाया। वह मेरी उत्तेजना को बहुत ज्यादा बढ़ा चुके थे। मैंने राहुल से कहा मैं तुम्हारे लंड को अपने मुंह में लेना चाहती हूं। मैंने राहुल के लंड को अपने मुंह में ले लिया। मैंने जब राहुल के लंड को अपने मुंह में लिया तो राहुल को मजा आने लगा और मुझे भी बहुत आनंद आने लगा था। मैने राहुल की गर्मी को पूरी तरीके से बढा कर रख दिया था। मेरी गर्मी बहुत ज्यादा बढ चुकी थी। मैंने राहुल के लंड से पानी बाहर निकाल दिया था। राहुल के लंड से निकलते हुए पानी में अलग ही स्वाद था। मुझे बहुत ज्यादा अच्छा लग रहा था जिस प्रकार से मै राहुल के लंड को चूस रही थी मैं राहुल की गर्मी को शांत करने की कोशिश कर रही थी। मुझे बहुत ज्यादा अच्छा लग रहा था राहुल को भी बहुत ज्यादा मजा आ रहा था। राहुल ने अब मेरे बदन से नाइटी को उतारते हुए मेरे स्तनों को दबाना शुरू किया। जब उन्होंने मेरे स्तनो को दबाना शुरू किया तो मुझे मजा आने लगा। वह मेरे स्तनों को दबाते जा रहे थे। मुझे मजा आ रहा था और उनको भी बड़ा आनंद आने लगा था।  मैंने राहुल से कहा मैं तुम्हारे लंड को अपने मुंह में लेना चाहती हूं।

मैंने दोबारा से उनके लंड को अपने मुंह में ले लिया और थोड़ी देर बाद राहुल ने मेरी चूत मारने के लिए तड़पने लगे। राहुल ने मेरी चूत को चाटना शुरू कर दिया। राहुल जिस प्रकार से मेरी चूत का मजा ले रहे थे उससे मुझे मजा आने लगा था और राहुल को भी बड़ा अच्छा लग रहा था। मैंने राहुल को कहा मुझे बहुत ज्यादा अच्छा लग रहा है। राहुल मुझे कहने लगे मुझे भी तो बड़ा आनंद आ रहा है। अब हम दोनों की ही गर्मी पूरी तरीके से बढ़ती जा रहे थी और हम दोनों ही बहुत ज्यादा उत्तेजित होते जा रहे थे मैं बिल्कुल भी अपने आपको रोक नहीं पा रही थी और ना ही राहुल अपने आपको रोक पा रहे थे। मैंने राहुल के सामने अपने पैरों को चौड़ा किया तो राहुल ने मेरी चूत की तरफ देखा और वह कहने लगे सविता भाभी आपकी चूत से तो पानी बाहर की तरफ को निकलने लगा है। मैंने राहुल को कहा तुम मेरी चूत को छूकर देखो। उन्होंने अपनी उंगली को मेरी चूत के अंदर के डालना शुरू किया तो मुझे अच्छा लगने लगा। मैंने राहुल से कहा तुम मेरी चूत में लंड को घुसा दो। राहुल ने अपने लंड को मेरी चूत मे घुसा दिया था। राहुल को बहुत ज्यादा मजा आने लगा था जिस तरह राहुल और मैं एक दूसरे के साथ मजे ले रहे थे। राहुल ने मेरे दोनों पैरों को आपस में मिला लिया और मुझे बड़े अच्छे से चोदने लगे। राहुल मुझे कहने लगे सविता भाभी आपकी चूत कितनी कमाल की है मुझे आपके चूत मारने में बड़ा आनंद आ रहा है। राहुल के साथ में सेक्स कर के बहुत खुश थी क्योंकि राहुल का लंड बहुत मोटा और बड़ा है मुझे आनंद आ रहा था। राहुल मुझे बड़ी ही तेज गति से धक्के मार रहे थे और जिस प्रकार से राहुल मुझे पेल रहे थे उससे मेरे शरीर का हर एक अंग हिलता जा रहा था।

मैंने राहुल को कहा मुझसे रहा नहीं जाएगा मैंने राहुल को अपने पैरों के बीच में जकडना शुरू कर दिया था लेकिन राहुल भी तो कहां मानने वाले थे। राहुल ने मेरी चूत से अपने लंड को निकाल कर मेरी चूतडो को अपनी तरफ किया और मेरी चूत के अंदर जैसे ही उनका लंड घुसा तो मै चिल्लाने लगी। मेरी सिसकारिया राहुल की गर्मी को बढाने लगी थी। राहुल ने मेरी कमर को कस कर पकड़ लिया मेरी कमर को राहुल ने बहुत कस कर पकड़ा हुआ था। राहुल को मजा आ रहा था जिससे कि मुझे भी बहुत ज्यादा मजा आने लगा था। राहुल को भी मजा आने लगा था वह मुझे कहने लगे मुझे आपके साथ सेक्स करने में बहुत अच्छा लग रहा है। मैंने उन्हें कहा मैं अभी आपको जन्नत की सैर करवा देती हूं मैं अपनी चूतडो को आगे पीछे कर रही थी और राहुल की गर्मी को लगातार बढ़ती जा रही थी। जब राहुल का वीर्य पतन होने वाला था तो राहुल ने अपने लंड को मेरी योनि से निकालकर मेरे सामने किया। राहुल का लंड मेरे सामने था। राहुल अपने लंड को हिलाए जा रहे थे जिसके बाद उनके वीर्य की पिचकारी मेरे मुंह में गिरी मुझे बड़ा ही अच्छा लगा जिस प्रकार से मैंने राहुल के साथ शारीरिक संबंध बनाए। राहुल दो दिनो तक घर पर ही रहे और दो दिनों तक ना जाने हमने कितने ही प्रकार की पोजीशन मे सेक्स संबंध बनाए। राहुल मेरे साथ सेक्स कर के बहुत ज्यादा खुश है और वह जिस प्रकार से मेरे साथ सेक्स करते हैं मुझे बड़ा ही मजा आता है और उन्हें भी बहुत ज्यादा मजा आता है। दो दिनों के बाद राहुल घर जा चुके थे लेकिन उन्होंने मेरे दिल में अपने लिए जगह बना ली थी और मैं उनके लिए बहुत ज्यादा तड़पा लगी थी। जब भी मेरा मन उनके साथ सेक्स करने का होता तो मैं उन्हें फोन करके घर पर बुला लिया करती।

वह भी अक्सर मेरे लिए तैयार रहते जब भी मुझे उनकी जरूरत पड़ती तो मैं उनके घर पर चली जाती और उनके साथ सेक्स का मजा लेती। मुझे बहुत ही अच्छा लगता जब भी मैं राहुल के साथ सेक्स किया करती और राहुल मेरे साथ सेक्स किया करते। मेरे पति भी मेरी जरूरतों को पूरा किया करते हैं उन्हें भी मेरे साथ सेक्स करने में बहुत मजा आता है लेकिन मुझे अब राहुल के लंड को लेने की आदत हो चुकी है। मैं राहुल के लंड को लिए बिना एक पल भी नहीं रह सकती इसलिए मैं उन्हें अक्सर घर पर बुला लिया करती हूं अपनी इच्छा को पूरा कर लेती हूं।