सविता किसी का उधार नहीं रखती

Savita bhabhi, hindi sex story: मेरी शादी को कुछ ही हफ्ते हुए थे मेरे पति और मैं अभी तक अपनी इच्छा को पूरा कर रहे थे। मेरे पति ने मेरी गांड के अंदर अपने लंड को डाला हुआ था वह कह रहे थे सविता तुम अपनी चूतड़ों को मुझसे टकराती रहो। जब उन्होंने यह बात कही तो मैंने भी उनहे कहा आप भी अपने लंड को मेरी गांड के अंदर डालते रहो मुझसे आपके मोटे लंड को अपनी गांड में लेने में मजा आ रहा है। मेरे पति के चेहरे पर खुशी थी वह मुझे बड़े ही तेजी से धक्के मार रहे थे मैं भी उनका पूरा साथ दे रही थी मैंने अपनी चूतडो को उनसे बहुत देर तक टकराया। जब वह पूरी तरीके से संतुष्ट हो गए तो उन्होंने कहा मेरे माल को मैंने तुम्हारी गांड में गिरा दिया है। मैंने कहा आप मेरी गांड को साफ कर लीजिए उन्होंने मेरी गांड पर अपने रुमाल को रखा और मेरे गांड से निकलते हुए माल को साफ कर लिया।

हम दोनों आपस में बैठकर बात कर रहे थे तभी मेरी सासू मां ने आवाज लगाई वह कहने लगी बहू तुमसे मिलने के लिए कोई आया हुआ है। मैंने जल्दी से कपड़े पहने जैसे ही मैं बाहर आई तो मैंने देखा एक व्यक्ति मुझसे मिलने के लिए आए हुए थे। वह मुझे कहने लगे आपका नाम सविता है? मैंने उन्हें कहा हां मेरा नाम सविता है। उन्होंने मुझे कहा आपके पापा ने आपके नाम पर कुछ पैसे पोस्ट ऑफिस में रखवाए थे आपको पोस्ट ऑफिस आना पड़ेगा। मुझे इस बारे में कुछ भी जानकारी नहीं थी मैंने उन्हें कहा लेकिन आपको मेरे घर का पता कैसे चला? वह मुझे कहने लगे मैं आपके पड़ोस में ही रहता हूं इसलिए मैंने सोचा कि मैं आपको इस बारे में बता देता हूं। मैंने उन्हें कहा कल जब आप पोस्ट ऑफिस में जाएंगे तो आप मुझे भी अपने साथ लेकर जा सकते हैं? वह मुझे कहने लगे हां जब मैं सुबह घर से निकलूंगा तो आप मेरे साथ चल पडना यह कहकर वह चले गए। मेरे पति कमरे में ही लेटे हुए थे वह मुझसे पूछने लगे सविता कौन था? मैंने उन्हें पूरी बात बताइ और कहा पापा ने मेरे नाम पर कुछ पैसे पोस्ट ऑफिस में जमा करवाए थे वही लेने के लिए मुझे पोस्ट ऑफिस में जाना पड़ेगा।

वह कहने लगे ठीक है सविता तुम कल पोस्ट ऑफिस चले जाना। मेरे पति काफी दिनों से अपने ऑफिस नहीं गए थे वह सिर्फ मेरी चूत और गांड का मजा ले रहे थे। अगले दिन मेरे पति ऑफिस के लिए जा चुके थे और थोड़ी देर बाद वह व्यक्ति अपनी कार लेकर हमारे घर के बाहर खड़े थे वह होरन बजा रहे थे। मैं जैसे ही बाहर गई तो मैंने उन्हें कहा बस 5 मिनट में तैयार होकर आती हूं मैं 5 मिनट बाद जल्दी से तैयार होकर उनकी कार में बैठी। जैसे ही मैं उनकी कार में बैठी उन्होंने मेरी तरफ देखते हुए कहा आप पिंक साड़ी में बड़ी अच्छी लग रही हैं। मैंने उनका धन्यवाद कहा मैं उनको कहा आप भी बड़े अच्छे हैं। मैंने उनसे पूछा आप कितने साल से पोस्ट ऑफिस में जॉब कर रहे हैं? वह मुझे कहने लगे मुझे पोस्ट ऑफिस में जॉब करते हुए करीब 20 वर्ष हो चुके हैं। मैं उनकी तरफ देखती तो वह मुझे देख कर मुस्कुरा देते जब मैं पोस्ट ऑफिस पहुंची तो उन्होंने मुझे कहा आप यह फॉर्म भर दीजिए। उन्होंने मुझे एक  फॉर्म दिया मैंने जब वह फॉर्म भरा तो थोड़ी देर बाद उन्होंने मुझे पैसे पकड़ा दिया और कहने लगे क्या आपको मैं घर तक छोड़ दूं? मैंने उन्हें कहा हां आप मुझे घर तक छोड़ दीजिए वह मुझे घर छोड़ने के लिए आ रहे थे हम दोनों कार में थे। वह मुझे कहने लगे मैंने आपकी मदद की तो क्या मुझे भी उसके बदले कुछ मिलेगा? मैंने उन्हें कहा मेरा नाम सविता है मैं कभी किसी को खाली हाथ नहीं भेजती आपको भी मैं जरूर खुश करूंगी। वह कहने लगे मेरी बीवी मायके गई हुई है चलिए ना आज हम लोग मेरे घर पर ही चलते हैं। मैं उनके साथ उनके घर पर चली गई जब मैं उनके घर पर गई मैं सोफे पर बैठी वह मेरे पास आकर बैठे और मेरी जांघ पर वह अपने हाथ को रखने लगे। मैं उनके इरादे जान चुकी थी मैं उनको ज्यादा तड़पाना नहीं चाहती क्योंकि उन्होंने भी मेरी मदद की थी। मैंने उन्हें कहा आइए मैं आपके लंड को अपने मुंह में ले लेती हूं। मैंने जैसे ही उनकी पैंट की चैन को खोला अपने मुंह के अंदर उनके लंड को लेकर चूसना शुरू किया तो मुझे अच्छा लगने लगा मैं उनके अपने मुंह में ले रही थी। वह मुझे कहने लगे लगता है आपको लंड चूसने में बड़ा मजा आता है? मैंने उन्हें कहा मुझे लंड को चूसने में बड़ा मजा आता है मैंने उनके लंड को अपने गले के अंदर तक उतार लिया था वह बड़े खुश हो रहे थे। मैंने जब उनके लंड से वीर्य को बाहर निकाला तो वह कहने लगे आपने तो मेरे वीर्य को बाहर निकाल दिया।

मैंने उन्हें कहा तभी तो हमे सेक्स करने में और मजा आएगा मैंने उनके लंड को दोबारा चूसना शुरू किया मैंने उनके लंड को चूसकर खड़ा किया। जब उनका लंड पूरी तरीके से तन कर खड़ा हो चुका था उन्होंने मेरी कपड़े उतारे और मुझे सोफे पर लेटाया। जब उन्होंने मेरी पैंटी को उतार कर मेरी चूत पर अपनी जीभ को लगाया तो मैं बहुत ज्यादा खुश हो गई वह मुझे कहने लगे वाह क्या चूत है। मैने उनको कहा आप अच्छे से मेरी चूत का रसपान कीजिए उन्होंने मेरी चूत को बहुत देर तक चाटा मेरी चूत से गरम पानी बाहर की तरफ को निकलने लगा था। उन्होंने भी अपने गरम लंड को मेरी चूत पर सटाते हुए अंदर डाला और मेरे स्तनों को दबाने लगे। वह मेरे ऊपर लेट चुके थे मैंने अपने दोनों पैरों को खोल लिया था उन्होंने अपने लंड को मेरी चूत के अंदर से प्रवेश करवा दिया था। उन्होंने अपने लंड को मेरी चूत के अंदर बाहर करना शुरू किया मैं अपने मुंह से सिसकियां लेने लगी और उन्हें उत्तेजित करने लगी वह बहुत ज्यादा उत्तेजित होने लगे और कहने लगे तुम्हें चोदने में बड़ा मजा आ रहा है।

मैंने कहा आपके साथ भी मुझे सेक्स करने में बहुत मजा आ रहा है उन्होंने मेरी गोरी चूत को लाल बना दिया था और जिस प्रकार से वह अपने मोटे लंड को मेरी चूत के अंदर डाले जा रहे थे उससे मेरी चूत से गर्म पानी लगातार बाहर को निकलने लगा था। मैंने उन्हें अपने पैरों के बीच में जकड़ लिया जब उन्होंने अपने वीर्य को मेरी चूत के अंदर गिराया तो वह कहने लगे तुम्हारी चूत के अंदर मेरा वीर्य बडे जल्दी गिर गया। मैंने उन्हे कहा आप मेरी गांड मार लीजिए? वह इस बात से खुश हो गए उन्होंने अपने लंड पर सरसों का तेल लगाते हुए जब मेरे गांड के अंदर अपने लंड को घुसाना शुरू किया तो मैंने भी पीछे की तरफ धक्का मारा और उन्होंने भी मेरी गांड के छेद के अंदर अपने लंड को घुसा दिया। उनका लंड मेरी गांड के छेद के अंदर तक जा चुका था मै बहुत तेजी से चिल्लाने लगी वह धीरे धीरे मेरी गांड मार रहे थे। मैंने उन्हें कहा तेजी से करिए उन्होंने मुझे सोफे के सहारे खड़ा किया हुआ था और मेरी गांड के अंदर उनका मोटा और विशाल लंड चला गया था। जब उनका लंड मेरी गांड के अंदर तक जाता तो उनके अंडकोष मेरी गांड से टकराते वह पूरी तरीके से उत्तेजित हो जाते और कहने लगते सविता तुमने तो मुझे आज खुश कर दिया है। मैंने उन्हें कहा अभी तो आप मेरी गांड के मजे लीजिए यह कहते ही उन्होंने मेरी बडी चूतडो को अपने हाथ में पकड़ा वह मुझे धक्के देने लगे। मैंने अपनी चूतड़ों को आगे पीछे करना शुरू किया तो उन्हें भी अब मजा आ रहा था वह कहते तुम्हारी गांड बड़ी टाइट है मुझे तुम्हारी गांड मारने में मजा आ रहा है। उन्होंने मेरे छेद को चौडा कर दिया था जिस प्रकार से वह मेरी गांड के मजे ले रहे थे मैं और वह ज्यादा देर तक एक दूसरे के साथ मजे ना कर सके उन्होंने भी अपने वीर्य को मेरी चूतड़ों पर गिराया और कहने लगे ऐसा मजा तो मुझे आज तक कभी नहीं आया। मैंने उन्हें कहा आपके साथ तो मुझे भी आज बड़ा मजा आ गया वह बहुत ज्यादा खुश थे मेरी गांड मार कर उन्होंने मुझे अपना दीवाना बना दिया था। मैंने उनको वादा किया था मैं आपको जरूर खुश करूंगी मैं अपने वादे पर खरी उतरी और उन्हें खुश कर दिया।